Chhattisgarh Young Scientist Congress

25th March - 26th March, 2020

About

            Mandatory spot registration and reporting             Full papers are invited from prospective authors to contribute and help shape the conference CYSC-2020             The selected papers will be published in University Journal.

The Governor of Chhattisgarh



Honourable Anusuiya Uikey

Governor of Chhattisgarh

शिक्षा: एम.ए. (अर्थशास्त्र)/एल.एल.बी. I

प्रशासनिक पद निर्वहन का विवरण : व्याख्याता - (अर्थशास्त्र) शासकीय महाविद्यालय, तानिया जिला छिन्दवाड़ा म0प्र0 1982-85 तक

विधायक : विधानसभा क्षेत्र दमुआ जिला छिन्दवाड़ा म0प्रवर्ष 1985 से 1990 तक

मंत्री : मध्यप्रदेश शासन, महिला एवं बाल विकास विभाग, भोपाल 1988 से 1989 तक

प्रभारी अध्यक्ष : भूमि विकास बैंक, (ग्रामीण एवं कृषि विकास बैंक) जिला छिन्दवाड़ा म0प्र0 वर्ष 1998 से 1999 तक

अध्यक्ष : मध्यप्रदेश राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग, मध्यप्रदेश शासन भोपाल जनवरी 2006 से मार्च 2006 तक

सदस्य : राष्ट्रीय महिला आयोग, भारत सरकार, दीनदयाल उपाध्याय मार्ग नई दिल्ली में वर्ष 2000-2003, एवं पुर्ननियुक्ति 2003-2005 जून तक

संसदीय दायित्व : सांसद राज्यसभा 04 अप्रैल 2006 से 04 अप्रैल 2012 तक

संसदीय तथा विभागीय समितियों के दायित्व :

  1. पूर्व सदस्य, संसदीय समिति, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, नई दिल्ली वर्ष 2006-2009
  2. पूर्व सदस्य, हिन्दी सलाहकार समिति, खाद्य प्रसंस्करण, मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली वर्ष 2006-2009
  3. पूर्व सदस्य, सलाहकार समिति, महिला एवं बाल विकास विभाग, मंत्रालय भारत सरकार नई दिल्ली वर्ष 2006-2009
  4. पूर्व सदस्य रेलवे सलाहकार समिति एसईसीआर रेलवे जोन समिति वर्ष 2007
  5.  पूर्व सदस्य टेलीफोन एडवाईजरी कमेटी, जिला छिन्दवाड़ा म0प्र0 वर्ष 2006
  6.  पूर्व सदस्य, अनुसूचित जातियों तथा जनजातियों के कल्याण संबंधी समिति में वर्ष 2009
  7. पूर्व सदस्य, ग्रामीण विकास संबंधी संसदीय स्थाई समिति वर्ष 2009
  8. पूर्व सदस्य, सलाहकार समिति, कोयला मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली वर्ष 2009

सामाजिक जीवन के विशेष उपलब्धियाँ एवं पुरूस्कार

विशेष कार्यों के लिये पुरूस्कार एवं सम्मान :

  1. दलित समाज के उत्थान हेतु डाॅ. भीमराव अम्बेडकर फैलोशिप से सम्मानित 6-12-1990
  2. मध्यप्रदेश विधानसभा में 21 सितम्बर 1989 को क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिये तत्कालीन लोकसभा अध्यक्ष माननीय श्री बलराम जाखड जी द्वारा जागरूक विधायक के रूप में सम्मानित किया गया।

विदेश यात्राएँ विधायक के पद पर रहते हुए :

  1. मास्को - वर्ष 1985 में रूस की राजधानी मास्को में अंतर्राष्ट्रीय युवा महोत्सव में भाग लेकर मध्यप्रदेश के युवाओं का प्रतिनिधित्व किया तथा ताशकन्द का भ्रमण।

राज्य सभा सांसद के पद पर रहते हुए:

  1. जिनेवा स्विटजरलैण्ड - में 3 दिसम्बर 2006 से 8 दिसम्बर 2006 तक आयोजित सेमीनार में भाग लिया जिसका विषय था महिलाओं को मुख्यधारा में लाने हेतु संसदीय समितियाँ क्या भूमिका अदा कर सकती हैं, इस विषय पर आयोजित सेमीनार में तीन सदस्यीय सांसदों के भारतीय प्रतिनिधि मंडल में सदस्य की हैसियत से भाग लिया।

लंदन :

  1. लन्दन - दिनांक 7 दिसम्बर 2006 को लंदन प्रवास।

महामहिम राष्ट्रपति जी के साथ प्रवास :

  1. मास्को- महामहिम श्रीमती प्रतिभा देवी सिंह जी पाटिल राष्ट्रपति भारत गणराज्य के साथ दिनांक 2 से 8 सितम्बर 2009 तक मास्को, सेन्टपीटरबर्ग, दुशान्वे (रसिया) एवं ताजीकिस्तान का उच्च स्तरीय प्रतिनिधि मंडल के सदस्य के रूप में प्रवास।

सातवीं एशि पैसिफिक महिला सांसद एवं मंत्रियों के सम्मेलन में मलेशिया :

कुआलालम्पुर मलेशिया-एशियन फोरम आफ पार्लियामेन्टेरियन्स आन पापुलेशन एण्ड डेव्हलपमेन्ट द्वारा बैंकाक थाईलेण्ड में दिनांक 14 एवं 15 नवम्बर 2009 को आयोजित सातवीं एशिया पैसिफिक महिला सांसद एवं मंत्रियों के सम्मेलन  में भाग लिया।

विदेश यात्राएँ महामहिम उपराष्ट्रपति जी के साथ प्रवास :

जाम्बिया, मलावी तथा बोत्सवाना-5 जनवरी से 12 जनवरी 2010 तक महामहिम श्री हामिद अंसारी जी उपराष्ट्रपति जी भारत गणराज्य के साथ उच्च स्तरीय शासकीय प्रतिनिधि मंडल में दक्षिण अफ्रीकी देशों जाम्बिया, मलावी तथा बोत्सवाना का प्रवास।

राष्ट्रीय महिला आयोग के कार्यकाल की विशेष उपलब्धियाँ

आदिवासी महिला सशक्तिकरण राष्ट्रीय महिला आयोग 2000 से 2005 तक: आदिवासी महिलाओं का सशक्तिकरण, समस्याएँ एवं संभावनाएँ विषय पर 6 क्षेत्रीय कार्यशालाएँ क्रमशः नासिक, गुवाहाटी, कुल्लू मनाली, झारखण्ड, मैंगलोर एवं जबलपुर में आयोजित की गई तथा इसके प्रतिवेदन भारत सरकार को प्रस्तुत किये गये।

आर्थिक सशक्तिकरण :  मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ की आदिवासी महिलाओं का आर्थिक सशक्तिकरण विषय का अध्ययन कराया गया जिसका प्रतिवेदन भारत सरकार को प्रस्तुत किया गया।

देश का भ्रमण तथा प्रतिवेदन प्रस्तुतीकरण :   राष्ट्रीय महिला आयोग में तीन वर्ष के कार्यकाल में 22 राज्यों का 80 जिलों का भ्रमण किया गया जिसका प्रतिवेदन तत्कालीन प्रधानमंत्री माननीय श्री अटल बिहारी बाजपेयी जी को प्रस्तुत किया गया।

 

Chief Minister of Chhattisgarh



Honourable Bhupesh Baghel

Chief Minister of Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के तीसरे नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का जन्म 23 अगस्त 1961 को राजधानी रायपुर में हुआ। उनके पिता श्री नंदकुमार बघेल दुर्ग जिले के पाटन क्षेत्र के प्रगतिशील कृषक हैं।

श्री भूपेश बघेल तत्कालीन अविभाजित मध्यप्रदेश की विधानसभा के लिए पहली बार वर्ष 1993 में विधायक निर्वाचित हुए। इसके बाद उन्होंने वर्ष 1998, वर्ष 2003 और वर्ष 2013 में भी विधायक के रूप में क्रमशः मध्यप्रदेश और राज्य बनने के बाद छत्तीसगढ़ की विधानसभा में पाटन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया। श्री बघेल पांचवी बार इस वर्ष 2018 में छत्तीसगढ़ विधानसभा के आम चुनाव में पाटन क्षेत्र से विधायक निर्वाचित हुए। साहित्य पठन, योग और खेल-कूद की गतिविधियों में उनकी विशेष अभिरूचि है। उन्होंने 19 जुलाई 2000 को रायपुर और 30 अगस्त 2000 को बिलासपुर में विशाल स्वाभिमान रैलियों का सफलतापूर्वक आयोजन किया। रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग और सेलूद में छत्तीसगढ़ मनवाकुर्मी समाज द्वारा आयोजित वृहद सामूहिक विवाह समारोहों के सफल आयोजन में भी उन्होने महत्वपूर्ण योगदान दिया।

श्री भूपेश बघेल तत्कालीन अविभाजित मध्यप्रदेश सरकार में वर्ष 1998 में मुख्यमंत्री से सम्बद्ध राज्य मंत्री और जनशिकायत निवारण विभाग के स्वतंत्र प्रभार के राज्य मंत्री के रूप में, वर्ष 1999 में परिवहन विभाग के मंत्री के रूप में और वर्ष 2000 में छत्तीसगढ़ राज्य के गठन के बाद छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व, पुनर्वास, राहत कार्य और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभागों के मंत्री के रूप में जनता को अपनी उल्लेखनीय सेवाएं दी। श्री भूपेश बघेल वर्ष 2013 में छत्तीसगढ़ विधानसभा की कार्यमंत्रणा समिति और वर्ष 2014-15 में लोकलेखा समिति के सदस्य रह चुके हैं।

Education Minister of Chhattisgarh



Shri Umesh Patel

Education Minister of Chhattisgarh

श्री उमेश पटेल रायगढ़ जिले के ग्राम नंदेली निवासी हैं। वे स्वर्गीय श्री नंद कुमार पटेल के पुत्र हैं। वर्तमान में वे खरसिया निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचित हुए हैं। उन्होंने भिलाई इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी दुर्ग से इनफरमेशन टेक्नालॉजी में बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की है। वे छत्तीसगढ़ विधानसभा में दूसरी बार निर्वाचित हुए हैं।

Chhattisgarh Council Of Science And Technology (CCOST)




The Chhattisgarh Council of Science and Technology , a nodal agency of Department of Science and Technology, Government of India in Chhattisgarh, was instituted in 2001 with a view to optimize sustainable development of the State through Science and Technology. Some of the major objectives of the council are, to identify the areas where Science and Technology input is required for progress of the state, to ensure better utilization of the resources of the state and to promote and popularize science for modernization of the state. The council has launched a program of promoting the young talent of the state by sponsoring to organize “Young Scientist Congress” every year. The Congress aims to identify budding scientists and provide encouragement to their research plans and programs. ....Read more.

The University




Pt. Ravishankar Shukla University (PRSU) is one of the oldest and largest universities of Chhattisgarh accredited with A grade from NAAC. It was established in 1964 and named after Pt. Ravishankar Shukla, the first Chief Minister of erstwhile Madhya Pradesh. The university has a sprawling campus spread over 300 acres with 27 School of Studies. It caters to the higher education needs of the youths of Chhattisgarh and adjoining states, namely Madhya Pradesh, Maharashtra, Orissa,Jharkhand, Andhra Pradesh and Telangana. The University plays a major role in the educational, cultural and economic life of the region. ....Read more.



Raipur – The Capital City




Raipur, the capital of Chhattisgarh , is the administrative, educational, business and industrial seat of the State. In its immediate neighbourhood lies, Bhilai the steel city of India. To the south of Raipur is the tribal heart of India - Bastar, where the tribal culture, art and philosophy are still preserved in original form along with the natural settings in deep and thick woods. Raipur has a tropical- wet and dry climate. The climate of Raipur is expected to be quite pleasant with a median temperature of about 18oC with highest 28oC during the period of the seminar (19-21 January, 2019). Normal clothing and other outfit will suffice. Raipur is well connected by Air, Rail and Road and can be accessed conveniently from most of the cities of India. ....Read more.

Important Dates

  • Paper Submission Starts
    February 06, 2020 
  • Last date of abstract & full Paper Submission (Online & Hard Copy both)
    March 10, 2020 
  • Conference Begins On
    March 25, 2020 
  • Date of Confirmation
    March 15, 2020 
  • Beginning of Publication Process of Submitted Articles
    March 27, 2020 
  • Mandatory spot registration and reporting
    March 25, 2020 

Our Sponsers

The Chhattisgarh Council of Science and Technology, a nodal agency of Department of Science and Technology, Government of India in Chhattisgarh, was instituted in 2001 with a view to optimize sustainable development of the State through Science and Technology ....read more.